आईसीसी महिला विश्व कप फाइनल, इतिहास दोहराने उतरेगी टीम इंडिया

London: वर्ष 1983 में कपिल देव की कप्तानी में जिस तरह पुरूष टीम ने आईसीसी विश्वकप खिताब जीत इतिहास रचा था उसे लॉर्ड्स के इसी मैदान पर दोहराने से अब देश की महिला क्रिकेट टीम बस एक कदम की दूरी पर है। मिताली राज की कप्तानी वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने मात्र दूसरी ही बार आईसीसी विश्वकप के फाइनल में प्रवेश किया है जहां उसके सामने रविवार को तीन बार की चैंपियन इंग्लैंड की चुनौती होगी।
भारत ने वर्ष 2005 में पहली बार विश्वकप फाइनल में जगह बनाई थी जहां वह ऑस्ट्रेलिया से हारकर उपविजेता रही थी। महिला टीम का यह टूर्नामेंट में सबसे अच्छा प्रदर्शन था लेकिन इस बार उससे एक कदम आगे बढ़कर पहली बार खिताब हासिल कर भारतीय महिला क्रिकेट इतिहास के स्वर्णिम युग की शुरूआत करने की अपेक्षा है।
कांटे का मुकाबला
भारत ने इस साल 19 वनडे खेले 16 जीते। इंग्लैंड ने 8 मैच खेले 7 जीते।
भारत और इंग्लैंड वनडे क्रिकेट में लॉड्र्स में तीन बार आमने-सामने आईं हैं। दोनों एक-एक बार जीतीं। एक मैच बेनतीजा रहा।
इन पर रहेगी निगाह
मिताली राज : वनडे में इंग्लैंड के खिलाफ सबसे ज्यादा 1605 रन।
हरमनप्रीत : सेमीफाइनल में 171* रन बनाए थे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ
नेताली स्किवर : इंग्लैंड की इस खिलाड़ी ने ही इस विश्व कप में एक से ज्यादा शतक बनाए हैं।
आखिरी विश्व कप झूलन का
वनडे में सर्वाधिक विकेट का रिकार्ड अपने नाम रखने वाली झूलन भी इस बार अपने आखिरी विश्वकप को यादगार बनाने के लक्ष्य के साथ उतरेंगी। झूलन ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ आठ विकेट में केवल 35 रन देकर दो विकेट निकाले थे और विपक्षी टीम की धाकड़ बल्लेबाजों को भी अपनी गेंदों से रन बनाने के लिए कोई जगह नहीं दी। दीप्ति की ऑफ ब्रेक गेंदों से इंग्लैंड को भी सतर्क रहना होगा। शिखा भी साबित होंगी अहम इसके अलावा शिखा पर नई गेंद से अच्छी शुरुआत दिलाने का दबाव होगा। इंग्लैंड के पास भी बल्लेबाजों और गेंदबाजों का अच्छा क्रम है। टैमी (387) टूर्नामेंट की तीसरी सर्वश्रेष्ठ स्कोरर हैं तो हीथर नाइट (363) और विकेटकीपर सारा टेलर(351) चौथे नंबर पर हैं।
सिर्फ दो मुकाबले हारे
भारत ने इंग्लैंड को 35 रन, वेस्टइंडीज को सात विकेट, पाक को 95 रन, श्रीलंका को 16 रन से हराकर लगातार चार मैच जीते। उसे दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया से शिकस्त मिली लेकिन उसने करो या मरो के मैच में न्यूजीलैंड को 186 रन से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया और फिर ऑस्ट्रेलिया को 36 रन से हरा फाइनल में जगह बनाई।
हर खिलाड़ी को 50 लाख रुपए देगा बोर्ड
बीसीसीआई भारतीय महिला क्रिकेट टीम की प्रत्येक खिलाड़ी को आईसीसी विश्वकप फाइनल में पहुंचने की उपलब्धि के लिए 50-50 लाख रुपए का ईनाम देगा। वहीं सपोर्ट स्टाफ को 25-25 लाख रुपए का नगद ईनाम मिलेगा। मिताली राज की कप्तानी में भारतीय टीम रविवार को तीन बार की चैंपियन इंग्लैंड का सामना करेगी।

Comments

Popular posts from this blog

20 amazing facts about india in hindi

Happy Holi 2017: Best Wishes, Quotes, Images, WhatsApp and Facebook Greetings

India successfully test-fires #BrahMos extended range missile from Odisha coast